Header Ads Widget

Patanjali Divya Stri Rasayan Vati Ke Fayde Aur Nuksan

पतंजलि दिव्य स्त्री रसायन वटी के फायदे और नुकसान
पतंजलि दिव्य स्त्री रसायन वटी के फायदे और नुकसान

पतंजलि दिव्य स्त्री रसायन वटी एक ओवर-द-काउंटर आयुर्वेदिक दवा है जिसका उपयोग मुख्य रूप से महिला जननांग समस्याओं और चोटों के इलाज के लिए किया जाता है। इसके अलावा कुछ अन्य समस्याओं के लिए भी दिव्य स्त्री रसायन वटी का उपयोग किया जा सकता है। पतंजलि दिव्य स्त्री रसायन वटी के फायदे और नुकसान के बारे में नीचे पुरी जानकारी नीचे दी गई है।


दिव्य स्त्री रसायन वटी के मुख्य घटक आंवला, अशोक, अश्वगंधा, चंदन, बांस हैं जिनकी प्रकृति और गुणों का उल्लेख नीचे किया गया है। दिव्य स्त्री रसायन वटी की उचित खुराक रोगी की उम्र, लिंग और पिछली स्वास्थ्य समस्याओं पर निर्भर करती है। यह जानकारी खुराक अनुभाग में विस्तार से दी गई है।


पतंजलि दिव्य स्त्री रसायन वटी की सामग्री


करौंदा

  • दवाएं जो ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करती हैं (शरीर में एंटीऑक्सिडेंट और मुक्त कणों के बीच असंतुलन)।
  • सामग्री जो भूख बढ़ाने में मदद करती है।
  • दवा जो पेट और आंतों के काम को आसान बनाकर पाचन तंत्र को बेहतर बनाती है।
  • एक पदार्थ या दवा जो बालों के विकास को उत्तेजित करती है।
  • एक दवा जो प्रतिरक्षा प्रणाली पर कार्य करके प्रतिरक्षा में सुधार करती है।
  • पाचक रसों के स्राव को बढ़ाकर अपच का उपचार करने वाला घटक।


अशोक

  • दवाएं जो चोट या संक्रमण के कारण होने वाली सूजन को कम करती हैं।


अश्वगंधा

  • पौधे आधारित घटक जो गैर विषैले होते हैं और शरीर को कार्य करने में मदद करते हैं


चंदन

  • दवाएं जो सूजन को कम करती हैं।
  • एक पदार्थ जिसमें यौन इच्छा को तीव्र करने की क्षमता होती है।


बांस

  • दवाएं जो चोट के बाद सूजन को कम करती हैं।
  • शरीर में मौजूद ऑक्सीजन के फ्री रेडिकल्स को दूर करने के लिए इस्तेमाल होने वाले पदार्थ।


पतंजलि दिव्य स्त्री रसायन वटी के फायदे


इन रोगों के उपचार में पतंजलि दिव्य स्त्री रसायन वटी का प्रयोग किया जाता है


मुख्य लाभ

  • महिला जननांग समस्याएं और चोटें


अन्य लाभ

  • मासिक धर्म के दौरान भारी रक्तस्राव
  • मासिक धर्म की समस्या
  • पीरियड्स में दर्द


आप इसे भी पढिये आपके काम आयेगा ये आर्टिकल: 

पतंजलि दिव्य स्त्री रसायन वटि की खुराक

यह पतंजलि दिव्य स्त्री रसायन वटी की अधिकांश मामलों में दी जाने वाली खुराक है। कृपया याद रखें कि हर मरीज और उनका मामला अलग हो सकता है। इसलिए, पतंजलि दिव्य स्त्री रसायन वटी की खुराक रोग, प्रशासन की विधि, रोगी की आयु, रोगी के चिकित्सा इतिहास और अन्य कारकों के आधार पर भिन्न हो सकती है।


पतंजलि दिव्य स्त्री रसायन वटी के फायदे और नुकसान कि मात्रा बनाने की विधि

वयस्क (स्त्री.)

  • खुराक: निर्धारित खुराक का प्रयोग करें
  • भोजन से पहले या बाद में: भोजन के बाद
  • अधिकतम खुराक: 2 गोलियाँ
  • खुराक: दूध
  • दवा का प्रकार: Buty (गोलियाँ)
  • दवा लेने का मतलब : मुँह
  • आवृत्ति (दवा कितनी बार लेनी है): दिन में दो बार
  • नशीली दवाओं के उपयोग की अवधि: दीर्घकालिक उपचार


पतंजलि दिव्य स्त्री रसायन वटी साइड इफेक्ट

चिकित्सा साहित्य में पतंजलि दिव्य स्त्री रसायन वटी के दुष्प्रभावों के बारे में कोई जानकारी नहीं है। हालांकि, पतंजलि दिव्य स्त्री रसायन वटी का उपयोग करने से पहले हमेशा अपने चिकित्सक से परामर्श करें।


आप इसे भी पढिये आपके काम आयेगा ये आर्टिकल:

पतंजलि दिव्य स्त्री रसायन वटी संबंधित चेतावनी


क्या Patanjali Divya Stri Rasayan Vati का उपयोग गर्भवती महिला के लिए ठीक है?

Divya Stri Rasayan Vati का गर्भवती महिलाओं पर क्या प्रभाव पड़ता है इस बारे में कोई शोध नहीं की गई है। इसलिए इसकी सही जानकारी नहीं मिल पाती है।

 

क्या पतंजलि दिव्य स्त्री रसायन वटी का उपयोग स्तनपान करने वाली महिलाओं के लिए ठीक है?

दिव्य स्त्री रसायन वटी का स्तनपान कराने वाली महिला पर कुछ समय के लिए क्या प्रभाव होंगे इस पर कोई विशेषज्ञ राय नहीं है। इसलिए डॉक्टर की सलाह के बाद ही इसका सेवन करें।


पतंजलि दिव्य स्त्री रसायन वटी का पेट पर क्या प्रभाव पड़ता है?

दिव्य स्त्री रसायन वटी को आप बिना किसी डर के ले सकते हैं। यह पेट के लिए सुरक्षित है।


क्या पतंजलि दिव्य स्त्री रसायन वटी बच्चों के लिए सुरक्षित है?

दिव्य स्त्री रसायन वटी को बच्चों के लिए सुरक्षित नहीं माना जाता है।

 

क्या पतंजलि दिव्य स्त्री रसायन वटी शरीर को सुस्त बनाती है?

दिव्य स्त्री रसायन वटी के सेवन से चक्कर या उनींदापन जैसी कोई समस्या नहीं होती है। तो आप वाहन चला सकते हैं या मशीनरी का उपयोग भी कर सकते हैं।



क्या पतंजलि दिव्य स्त्री रसायन वटी के प्रयोग से आदत बन जाती है?

नहीं, लेकिन फिर भी दिव्य स्त्री रसायन वटी को लेने से पहले आपको डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए।


आप इसे भी पढिये आपके काम आयेगा ये आर्टिकल: 
ध्यान दें:
इस लेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के हैं। इस लेख में समाहित किसी भी जानकारी की सटीकता, पूर्णता, वैधता या वैधता के लिए उपचार । सभी जानकारी एक आधार पर प्रदान की जाती है। लेख में व्यक्त की गई जानकारी, तथ्य या राय हेल्थऍक्टिव्ह और हेल्थऍक्टिव्ह की राय को नहीं दर्शाती है, जिसके लिए हेल्थऍक्टिव्ह कोई जिम्मेदारी या दायित्व स्वीकार नहीं करता है।

Post a Comment

तुम्हाला काही अडचण असेल तर तुम्ही कंमेन्ट करून विचारू शकतात

थोडे नवीन जरा जुने