Header Ads Widget

बाबा रामदेव थायराइड डाइट इन हिंदी

Baba Ramdev Thyroid Diet in Hindi
Baba Ramdev Thyroid Diet in Hindi

नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम हर्ष अंधारे है और आपका नाम क्या है और आप सभी कैसे हैं क्या आप मुझे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं?

आइए अब हम Baba Ramdev Thyroid Diet in Hindi आहार योजना के लेख की और जाते है।

थायराइड की बीमारी में सबसे बड़ी समस्या यह है कि थायराइड डाइट में क्या खाएं और क्या नहीं? इस लिए हमने आपके लिए Baba Ramdev Thyroid Diet in Hindi डाइट का लेख लिखा है। थायराइड डाइट में क्या खाएं और क्या नहीं? इसे समझने के लिए सबसे पहले यह समझना जरूरी है कि थायराइड रोग किस प्रकार का है। 

हाइपरथायरायडिज्म है या हाइपोथायरायडिज्म। क्योंकि हाइपरथायरायडिज्म में थायराइड हार्मोन (T3, T4) का स्राव अधिक होता है और हाइपोथायरायडिज्म में कम होता है।

इसलिए हाइपरथायरायडिज्म में हमें थायरॉइड डाइट में ऐसे खाद्य पदार्थ का चयन करना होता है जो थायराइड हार्मोन के प्रभाव को कम करता है या इसके उत्पादन को कम करता है। (Hypothyroidism Me Diet Ramdev Baba Ki Tips) जबकि हाइपोथायरायडिज्म में ऐसे भोजन का चयन करना होता है जो थायराइड हार्मोन के प्रभाव को बढ़ाए या उसके उत्पादन को बढ़ाए।

हाइपरथायरायडिज्म में क्या खाएं (Thyroid Diet in Hindi):-


1) क्रुसिफेरस वेजीज:-

Baba Ramdev Thyroid Diet in Hindi
Baba Ramdev Thyroid Diet in Hindi

गोइट्रोजन ब्रोकली, पत्ता गोभी और फूलगोभी की सब्जियों में पाए जाते हैं। जो थायराइड हार्मोन के प्रभाव को कम करता है और उसके स्राव की दर को कम करता है। ब्रोकली, पत्ता गोभी, फूलगोभी आदि को हल्का उबाल कर खा लें।

2) पत्तेदार सब्जियां:-

Baba Ramdev Thyroid Diet in Hindi
Baba Ramdev Thyroid Diet in Hindi

पालक, सरसों का साग, मूली, गाजर आदि आयरन से भरपूर होते हैं, जो आयोडीन के प्रभाव को कम करके थायरॉइड को संतुलित रखता है।

आप इसे भी पढिये आपके काम आयेगा ये आर्टिकल:-

3) सेलेनियम युक्त भोजन :-

सेलेनियम एक सूक्ष्म पोषक तत्व है जो शरीर को थायराइड हार्मोन के चयापचय के लिए आवश्यक है। सेलेनियम ऑटोइम्यून थायरॉयड रोग के लक्षणों को सुधारने में मदद कर सकता है। खाद्य पदार्थ जैसे ब्राजील नट्स, अंडे, टूना मछली, झींगा, सूरजमुखी के बीज, मशरूम, दलिया आदि सेलेनियम के अच्छे स्रोत हैं।

4) कैल्शियम और विटामिन डी से भरपूर खाद्य पदार्थ :-

हाइपरथायरायडिज्म को नियंत्रण में रखने के लिए दूध, पनीर, दही, आइसक्रीम, संतरे का रस, टोफू और फोर्टिफाइड सोया दूध सबसे अच्छे आहार हैं।

5) जिंक युक्त खाद्य पदार्थ :-

Baba Ramdev Thyroid Diet in Hindi
Baba Ramdev Thyroid Diet in Hindi

मांस, कद्दू के बीज, सोयाबीन, अनार, अंकुरित अनाज जिंक से भरपूर होते हैं जो थायरॉयड ग्रंथि को स्वस्थ रखते हैं।

6) पतंजलि आयुर्वेदिक चूर्ण (बाबा रामदेव थायराइड डाइट हिंदी में):-

Baba Ramdev Thyroid Diet in Hindi
Baba Ramdev Thyroid Diet in Hindi

पतंजलि त्रिकूट चूर्ण और प्रवाल पिष्टी चूर्ण को शहद के साथ नियमित रूप से लेने से अतिगलग्रंथिता की समस्या से शीघ्र छुटकारा मिलता है।

7) हल्दी :-

Baba Ramdev Thyroid Diet in Hindi
Baba Ramdev Thyroid Diet in Hindi

हल्दी थायराइड रोग की आवृत्ति को कम करती है। उपरोक्त सभी खाद्य पदार्थ (थायरॉयड डाइट इन हिंदी) हाइपरथायरायडिज्म रोग को ठीक करने में सहायक होते हैं।


हाइपोथायरायडिज्म के लिए भोजन (थायराइड आहार हिंदी में):-

1) अनाज:-

ओट्स, गेहूं का आटा, ब्राउन राइस, ऐमारैंथ (ऐमारैंथ), किना (कीनू), एक प्रकार का अनाज का आटा आदि थायराइड ग्रंथि की गतिविधि को बढ़ाने में बहुत मददगार होते हैं क्योंकि इन प्रोटीन युक्त अनाज में अमीनो एसिड होता है।

2) आयोडीन युक्त आहार :-

थायरॉयड ग्रंथि के कामकाज के लिए आयोडीन एक आवश्यक तत्व है। समुद्री नमक आयोडीन से भरपूर होता है, इसलिए भोजन में इसका सेवन नियमित और संतुलित मात्रा में करना चाहिए।

3) थायरॉइड डाइट को अपने दैनिक आहार में शामिल करना चाहिए जैसे दूध, दही, ऑर्गेनिक स्ट्रॉबेरी, आलू और पनीर।

4) पतंजलि एलो वेरा जूस (Baba Ramdev Thyroid Diet in Hindi):- 

फाइबर के साथ पतंजलि एलो वेरा जूस हाइपोथायरायडिज्म को नियंत्रित करने में बहुत फायदेमंद होता है।

5) प्रोटीन डाइट :-

ग्लूटेन प्रोटीन तत्व शरीर और सभी ग्रंथियों के लिए आवश्यक है, इसलिए थायरॉइड डाइट में लो फैट मीट और चिकन का सेवन करें।


आप इसे भी पढिये आपके काम आयेगा ये आर्टिकल:-


दोस्तों इस Baba Ramdev Thyroid Diet in Hindi लेख में थायरॉइड डाइट के बारे में विस्तार से बताया गया है, लेकिन थायराइड के हर मरीज की शारीरिक संरचना और बीमारी का असर अलग-अलग होता है, इसलिए डॉक्टर से सलाह लेकर ही अपना थायराइड डाइट चार्ट सेट करें।


ध्यान दें:

इस लेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के हैं। इस लेख में समाहित किसी भी जानकारी की सटीकता, पूर्णता, वैधता या वैधता के लिए उपचार । सभी जानकारी एक आधार पर प्रदान की जाती है। लेख में व्यक्त की गई जानकारी, तथ्य या राय हेल्थऍक्टिव्ह और हेल्थऍक्टिव्ह की राय को नहीं दर्शाती है, जिसके लिए हेल्थऍक्टिव्ह  कोई जिम्मेदारी या दायित्व स्वीकार नहीं करता है।

Post a Comment

तुम्हाला काही अडचण असेल तर तुम्ही कंमेन्ट करून विचारू शकतात

थोडे नवीन जरा जुने