अदरक खाने के नुकसान | अदरक के फायदे इन हिंदी

Adrak Se Hone Vale Fayde Aur Nuksan in Hindi
Adrak Se Hone Vale Fayde Aur Nuksan in Hindi

Adrak Se Hone Vale Fayde Aur Nuksan in Hindi:अदरक का इस्तेमाल सालों से हर भारतीय रसोई में किया जाता रहा है। कारण इसका विशेष स्वाद है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि भोजन में स्वाद लाने के अलावा, अदरक कई औषधीय गुणों से भी भरपूर है। यही कारण है कि अदरक का उपयोग कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से राहत पाने के लिए भी किया जाता है।

इसे भी पढ़िये: Adrak Se Hone Vale Fayde Aur Nuksan in Hindi

हेल्थऍक्टिव्ह के इस लेख में, हम आपको Adrak Se Hone Vale Fayde Aur Nuksan in Hindi को भी दिखाएंगे, ताकि आप अदरक खाने के लाभों को बेहतर तरीके से समझ सकें। उसी समय, इससे पहले यह जानना भी महत्वपूर्ण है कि अदरक को केवल एक घरेलू उपचार के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। इसे वर्णित समस्याओं का इलाज नहीं माना जाना चाहिए। किसी भी बीमारी का उपचार चिकित्सा सलाह पर निर्भर करता है।


    Adrak Se Hone Vale Fayde Aur Nuksan in Hindi


    1. अदरक से होने वाले फायदे पाचन को मजबूत करते है

    अदरक खाने के कई फायदे हैं, जिनमें पाचन सुधारना भी शामिल है। इसकी पुष्टि NCBI (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध से हुई है। शोध में पाया गया है कि अदरक कब्ज, पेट दर्द, पेट में ऐंठन, ऐंठन और गैस जैसी कई समस्याओं से राहत दिलाने में मददगार हो सकती है। साथ ही यह अपच  की समस्या को ठीक करने में भी सहायक हो सकता है। (Adrak Ke Fayde) इस आधार पर यह माना जा सकता है कि अदरक के लाभ पेट के लिए प्रभावी हैं। यह पाचन को मजबूत करने के लिए भी काम कर सकता है।


    2. अदरक से होने वाले फायदे कॅन्सर से बचाव करते है

    कैंसर की रोकथाम में अदरक का उपयोग भी लाभकारी परिणाम दिखा सकता है। दरअसल, अदरक से संबंधित चूहों पर NCBI का शोध इसकी पुष्टि करता है। शोध में बताया गया है कि अदरक में एंटी-इंफ्लेमेटरी (सूजन-रोधी) और कैंसर-रोधी (कैंसर-रोधी) गुण होते हैं। (अदरक की चाय के फायदे) इस संपत्ति के कारण, अदरक स्तन कैंसर, गर्भाशय कैंसर और यकृत कैंसर की रोकथाम में सकारात्मक प्रभाव दिखा सकता है। (अदरक की चाय बनाने का तरीका) इस आधार पर यह कहना गलत नहीं होगा कि अदरक खाने के फायदे कुछ हद तक कैंसर को रोकने में मददगार साबित हो सकते हैं। हालाँकि, इसे कैंसर का इलाज नहीं कहा जा सकता है।

    इसे भी पढ़िये: पैरों की थकान दूर करने के उपाय

    3. अदरक से होने वाले फायदे अल्जाइमर में लाभ देता है

    अल्जाइमर मस्तिष्क से संबंधित एक तंत्रिका विकार है, जिसमें बढ़ती उम्र के साथ लोगों में भूलने की समस्या देखी जाती है। अदरक का उपयोग इस समस्या के बढ़ते प्रभावों को काफी हद तक नियंत्रित करने में मदद कर सकता है।


    (अदरक का रस कैसे निकालते हैं) अदरक से संबंधित NCBI की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध में भी इस तथ्य को स्वीकार किया गया है। शोध में बताया गया है कि अदरक में कई फाइटोकेमिकल्स जैसे जिंजरोल, शोगोल और जिंजेरोन होते हैं, जो मस्तिष्क को संदेश भेजने वाले न्यूरॉन के प्राकृतिक नुकसान को रोकने में मदद कर सकते हैं।

    इससे अल्जाइमर की समस्या  में काफी राहत मिल सकती है। (अदरक के फायदे बालों के लिए) इस आधार पर, यह माना जा सकता है कि अदरक का उपयोग अल्जाइमर के प्रभाव को कुछ हद तक नियंत्रित करने में मदद कर सकता है।

    आगे पढ़ने के लिए नीचे स्क्रॉल करें

    4. अदरक से होने वाले फायदे से मतली और उल्टी से राहत देते है

    अदरक का लाभ मतली और उल्टी की समस्या में भी प्राप्त किया जा सकता है। इसका प्रमाण इंटीग्रेटिव मेडिसिन इनसाइट्स द्वारा किए गए एक शोध से मिलता है। शोध में पाया गया है कि अदरक में एंटीमैटिक (मतली और उल्टी की भावना को कम करने वाला) प्रभाव होता है।

    (बवासीर में अदरक खाना चाहिए या नहीं) इस प्रभाव के कारण, अदरक मुख्य रूप से गर्भावस्था और कीमोथेरेपी  के बाद मतली की समस्या से छुटकारा दिला सकता है। (अदरक लहसुन) ऐसी स्थिति में, यह कहा जा सकता है कि अदरक का उपयोग मतली और उल्टी की समस्या से राहत पाने में मदद कर सकता है।

    इसे भी पढ़िये: स्वस्थ रहने के लिए क्या करना चाहिए

    5. अदरक से होने वाले फायदे मै दर्द कम करता है

    यूनाइटेड स्टेट यूनिवर्सिटी ऑफ नेब्रास्का के एक शोध में पाया गया कि अदरक में एनाल्जेसिक (एनाल्जेसिक) गुण होते हैं। इस संपत्ति के कारण, अदरक खिलाड़ियों  में अधिक तनाव के कारण मांसपेशियों में दर्द का व्यापक प्रभाव छोड़ सकता है। (अदरक का पानी पीने के फायदे) दूसरी ओर, तेहरान के शाहिद विश्वविद्यालय द्वारा किए गए शोध का मानना ​​था कि अदरक मासिक धर्म के दर्द  को नियंत्रित कर सकता है। इन दो तथ्यों को देखते हुए, यह कहना गलत नहीं होगा कि अदरक के औषधीय गुण मांसपेशियों में खिंचाव, तनाव और सूजन के कारण होने वाले दर्द को कम करने में मदद कर सकते हैं।

    6. मासिक धर्म में अदरक के फायदे

    जैसा कि हमने आपको पहले लेख में बताया है कि अदरक में दर्द से राहत और सूजन कम करने वाले गुण होते हैं। ये गुण मांसपेशियों में खिंचाव और तनाव को दूर करने के साथ-साथ मासिक धर्म  के दौरान दर्द से राहत देने में सहायक हो सकते हैं। (गुड़ और अदरक के फायदे) ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि अदरक के फायदे मासिक धर्म के दर्द को रोकने के लिए कारगर साबित हो सकते हैं।

    इसे भी पढ़िये: थाइरोइड में ग्रीन टी पीना चाहिए या नही

    7. अदरक से होने वाले फायदे माइग्रेन के लिए फायदेमंद है 

    आपको लेख में ऊपर बताया गया है कि अदरक में एनाल्जेसिक गुण होते हैं। यह एनाल्जेसिक गुण भी माइग्रेन की समस्याओं में मददगार साबित हो सकता है। NCBI वेबसाइट पर प्रकाशित अदरक से संबंधित एक शोध में इसका उल्लेख किया गया है।

    (अदरक के फायदे पेट के लिए) अनुसंधान ने सुझाव दिया है कि अदरक का रस तीव्र माइग्रेन दर्द को नियंत्रित और राहत दे सकता है। ऐसी स्थिति में यह कहा जा सकता है कि अदरक का सेवन माइग्रेन पीड़ित के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है।

    8. दिल की सेहत बनाए रखें

    दिल की सेहत बनाए रखने के लिए अदरक का सेवन भी किया जा सकता है। दरअसल, विशेषज्ञों के अनुसार, अदरक के औषधीय गुण कई हैं। इनमें सूजन, मुक्त कण प्रभाव, रक्त के थक्के बनने की प्रक्रिया, रक्तचाप में वृद्धि और लिपिड को नियंत्रित करने की क्षमता शामिल है। (अदरक के फायदे इन हिंदी) ये सभी प्रभाव संयुक्त रूप से हृदय स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकते हैं और स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद कर सकते हैं । इस आधार पर, यह माना जा सकता है कि अदरक का सेवन हृदय स्वास्थ्य बनाए रखने में मदद कर सकता है।

    इसे भी पढ़िये: Medohar Vati Patanjali Benefits in Hindi

    9. कोलेस्ट्रॉल और रक्तचाप को नियंत्रित करें

    आपको पहले ही लेख में बताया गया है कि अदरक में हाइपोटेंशन (रक्तचाप कम करना) प्रभाव पाया जाता है। उसी समय, अदरक से जुड़े एक अन्य शोध का मानना ​​था कि अदरक का रस लिपिड को नियंत्रित करने के साथ-साथ बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद कर सकता है। (Adrak Ke Fayde Khansi Ke Liye) इन दोनों तथ्यों को देखते हुए, यह माना जा सकता है कि अदरक कोलेस्ट्रॉल और रक्तचाप दोनों को नियंत्रित करने में सकारात्मक प्रभाव दिखा सकता है।

    10. गठिया में सहायक

    हमने आपको पहले ही लेख में बताया है कि अदरक में एंटीइन्फ्लेमेटरी (सूजन कम करने वाला) और एनाल्जेसिक (एनाल्जेसिक) दोनों गुण होते हैं। इन दोनों गुणों के कारण, अदरक गठिया से राहत देने में भी मदद कर सकता है।

    (Adrak Ke Fayde Aur Nuksan Bataye) एनसीबीआई के एक शोध में इसके प्रमाण मिले हैं। शोध ने सुझाव दिया है कि अदरक गठिया की समस्याओं के साथ-साथ अन्य शारीरिक समस्याओं से राहत दिलाने में मदद कर सकता है। हालाँकि, यह इस समस्या में कितना प्रभावी है, इस विषय पर अभी और शोध किए जाने की आवश्यकता है।

    इसे भी पढ़िये: पित्त का रामबाण इलाज मराठी

    11. मधुमेह नियंत्रण में सहायक

    ईरानी जर्नल ऑफ फार्मास्यूटिकल रिसर्च द्वारा अदरक पर किए गए एक शोध ने इसे मधुमेह पर प्रभावी पाया। अनुसंधान से पता चला है कि यह बढ़ी हुई रक्त शर्करा की मात्रा को नियंत्रित करने के साथ-साथ इंसुलिन की सक्रियता को भी बढ़ा सकता है। इस तरह, यह व्यापक अर्थों में मधुमेह की समस्या में प्रभावी साबित हो सकता है।

    अधिक पढ़ें

    12. अदरक वजन घटाने में सहायक

    अदरक का उपयोग इसे बढ़ाकर वजन को नियंत्रित करने में भी फायदेमंद साबित हो सकता है। अदरक से संबंधित NCBI की वेबसाइट पर एक शोध इसकी पुष्टि करता है। अनुसंधान ने सुझाव दिया है कि अदरक वसा बर्नर की तरह काम कर सकता है और पेट, कमर और कूल्हों पर जमी वसा को कम करने में मददगार हो सकता है।

    (Adrak Ke Fayde or Nuksan) साथ ही यह मोटापे  का कारण बनने वाले जोखिमों को दूर रखने में भी मदद कर सकता है। इस आधार पर यह कहा जा सकता है कि अगर अदरक का सेवन संतुलित आहार के साथ किया जाए तो निश्चित रूप से वजन कम करने में मदद मिल सकती है। वजन कम करने के लिए आप एक डिटॉक्स ड्रिंक में अदरक को भी शामिल कर सकते हैं।

    इसे भी पढ़िये: Pairo Me Dard in Hindi

    13. प्रतिरक्षा बढ़ाएँ(Boost immunity)

    अदरक का सेवन शरीर के प्रतिरोध को बनाए रखने में भी मदद कर सकता है। इसकी पुष्टि इंटरनेशनल जर्नल ऑफ प्रिवेंटिव मेडिसिन द्वारा किए गए एक शोध से हुई है। शोध में पाया गया है कि अदरक में एंटीऑक्सीडेंट (फ्री रेडिकल नष्ट करने वाला) और एंटीइंफ्लेमेटरी (सूजन कम करने वाला) गुण होते हैं। इसके अलावा, इसमें इम्यूनो न्यूट्रिशन गुण भी होते हैं। (Adrak Ke Fayde in Hindi) यही है, यह प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने में भी सहायक हो सकता है। इसके लिए आप अदरक के पाउडर को चाय या काढ़े में इस्तेमाल कर सकते हैं।

    14. संक्रमण से बचें

    कई शारीरिक समस्याओं से राहत पाने के लिए अदरक का इस्तेमाल सालों से किया जा रहा है। इन समस्याओं में संक्रमण को रोकना भी शामिल है। विशेषज्ञों के अनुसार, अदरक में रोगाणुरोधी (बैक्टीरिया को नष्ट करने वाले) गुण होते हैं।

    (Adrak Ke Fayde Aur Nuksan in Hindi) इस कारण से, यह विभिन्न प्रकार के बैक्टीरिया  से संक्रमण को रोकने में मदद कर सकता है। इसी समय, ताइवान के एक चिकित्सा विश्वविद्यालय के शोध में भी पाया गया है कि ताजा अदरक का अर्क एचआरएसवी (ह्यूमन रेस्पिरेटरी सिंकाइटियल वायरस)  के प्रभाव को कम कर सकता है।

    दूसरी ओर, खाद्य विज्ञान और अनुसंधान के एक शोध से पता चलता है कि अदरक के गुण सामान्य सर्दी, जुकाम, गले में खराश और बुखार के संक्रमण को रोकने में भी प्रभावी हो सकते हैं। (Adrak Ke Fayde Nuksan) सर्दी या बुखार के संक्रमण से बचने के लिए शहद के साथ अदरक का सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है।

    इसे भी पढ़िये: Dr Swagat Todkar Health Tips in Marathi

    15. अदरक त्वचा के लिए फायदेमंद

    बेदाग और कील मुहासों से मुक्त त्वचा पाने के लिए अदरक का इस्तेमाल भी फायदेमंद साबित हो सकता है। विशेषज्ञों के अनुसार, अदरक का उपयोग मुँहासे और दाग की समस्या से राहत दिलाने में सकारात्मक प्रभाव प्रदान कर सकता है। (Adrak Ke Fayde in Marathi) हालांकि, यह स्पष्ट नहीं है कि अदरक मुँहासे की समस्या में कैसे काम करता है। इसलिए, इस संबंध में और अधिक शोध किए जाने की आवश्यकता है। हालाँकि, इस आधार पर यह कहना गलत नहीं होगा कि इन त्वचा की समस्याओं से राहत पाने के लिए अदरक का सेवन कुछ हद तक फायदेमंद साबित हो सकता है।

    इसे भी पढ़िये: डॉ स्वागत तोडकर घरगुती हेल्थ उपचार हिंदी

    16. अदरक बालों के लिए फायदेमंद

    जैसा कि हमने आपको पहले लेख में बताया है कि अदरक में रोगाणुरोधी (सूक्ष्म जीवाणु नष्ट करने वाले) गुण होते हैं। (Adrak Ke Fayde Aur Nuksan) वहीं, विशेषज्ञों के अनुसार बैक्टीरिया के संक्रमण के कारण भी बालों का झड़ना देखा जा सकता है। ऐसे में अगर कोई बैक्टीरिया के संक्रमण के कारण बालों के झड़ने की समस्या से परेशान है, तो अदरक के गुण मददगार साबित हो सकते हैं।

    इसे भी पढ़िये: स्वस्थ रहने के लिए क्या करना चाहिए

    अदरक के लाभों को जानने के बाद, अब लेख के अगले भाग में, हम आपको अदरक के पौष्टिक तत्वों से संबंधित जानकारी देंगे।


    अधिकतर पूछे जाने वाले सवाल

    इसे भी पढ़िये: Tips Of Body Fitness In Hindi

    क्या आप गुड़ और अदरक एक साथ ले सकते हैं?

    जी हां, अदरक की चटनी बनाने के लिए चीनी की जगह गुड़ का भी इस्तेमाल किया जाता है। इसलिए, गुड़ के साथ अदरक का उपयोग किया जा सकता है।


    क्या अदरक को खाली पेट खाना ज्यादा फायदेमंद है?

    विशेषज्ञ त्वचा को चिकना और चमकदार बनाने के लिए खाली पेट पर अदरक का एक टुकड़ा गुनगुने पानी के साथ लेने की सलाह देते हैं। हालाँकि, इसका कोई वैज्ञानिक प्रमाण उपलब्ध नहीं है।


    क्या अदरक का पानी पीना फायदेमंद है?

    पाचन संबंधी समस्याओं से राहत के लिए सुबह खाली पेट अदरक का पानी पीने की सलाह दी जाती है।


    क्या कच्चा अदरक खाना ज्यादा फायदेमंद है?

    भूख के अभाव में, अदरक को कच्चा खाने से लाभ प्राप्त किया जा सकता है। इस मामले में, कच्चे अदरक के टुकड़ों में नमक डालकर खाने की सलाह दी जाती है।


    क्या अदरक और जीरा को एक साथ लिया जा सकता है?

    अदरक का अचार बनाने के लिए कई मसालों का इस्तेमाल किया जाता है, जिसमें जीरा भी शामिल है। वहीं, कुछ लोग चाय बनाने में भी जीरे का इस्तेमाल करते हैं। ऐसी स्थिति में यह कहा जा सकता है कि जीरे के साथ अदरक का सेवन किया जा सकता है।


    क्या अदरक और शहद को एक साथ लिया जा सकता है?

    हां, अदरक और शहद को एक साथ लिया जा सकता है। अदरक और शहद के लाभ गले में खराश को दूर करने में मदद कर सकते हैं। ऐसे में अदरक के रस में शहद मिलाकर पीने की सलाह दी जाती है।

    इसे भी पढ़िये: Pairo Me Dard in Hindi | Pairo Me Dard Ka Ilaj in Hindi

    ध्यान दें:

    इस लेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के हैं। इस लेख में समाहित किसी भी जानकारी की सटीकता, पूर्णता, वैधता या वैधता के लिए उपचार । सभी जानकारी एक आधार पर प्रदान की जाती है। लेख में व्यक्त की गई जानकारी, तथ्य या राय हेल्थएक्टिव और Healthactive.co.in की राय को नहीं दर्शाती है, हेल्थएक्टिव कोई जिम्मेदारी या दायित्व स्वीकार नहीं करता है।

    Post a Comment

    तुम्हाला काही अडचण असेल तर तुम्ही कंमेन्ट करून विचारू शकतात

    थोडे नवीन जरा जुने